Chinese लोग इंडियन लोगों से अलग क्यों दिखते है

Chinese लोग इंडियन लोगों से अलग क्यों दिखते है  

होमो सेपियन्स वो इंसानी पर्जाती है जो इस पृथिव पर 3 लाख सालों पहले देखि गयी थी यह जीव आज का मॉडर्न इंसान है और दुनिया भर में आप जो भी लोग देखते हो वो सभी इसी प्रजाति को बिलोंग करते है लेकिन सावल यह दुनिया में सभी होमो सेपियन्स है क्यों एक चिनिस इंसान एक इंडियन इंसान से इतना अलग दीखता है एक इंडियन और चिनिस के बीच में इतना डिफरेंसेस की वजह से आप उन्हें आराम से पहचान लोगे 

Chinese लोग इंडियन लोगों से अलग क्यों दिखते है
Chinese लोग इंडियन लोगों से अलग क्यों दिखते है  

और वही पर एक अफ्रीकन और यूरोपियन आदमी को भी सेम फॉर चिनिस और अफ्रीकनस तो यह एक ही किसम के लोग एक दुसरे से अलग क्यों दिखते है और क्या रीज़न है की यह एक दुसरे से अलग दिखना पड़ा क्या राज है इंडियन के टेन्स का फिर चिनिस की छोटी आखो का और यूरोपियन के गोर चमड़े और सुन्हेंरे बालो का तो चलिए जानते है 

इंसानी प्रजाति यानि होमो सेपियन्स सबसे पहले अफ्रीका में देखे गए थे 3 लाख सालो पहले जहा से माना जाता है ज़िंदगी की शुरवात भी हुई थी वहा के गरम और नेचुरल ही रिच परियावरण में मतलब 3 साल लाखो पहले दुनिया के सभी लोग एक जैसे दिखते थे चाहे वो आज का चिनिस इंसान हो या फिर एक इंडियन और सभी आपस में सभी खुसी से रह भी रहे थे आइस ऐस में बिना टेरेसिस्म के लेकिन आज से कुछ 1 लाख 30000 सालो पहले आइस ऐज में एक एसा समय आया कहा जाता है 

इंटरग्लेसिअल इंटरलूड यानि आसान भाषा में आइस आगे में गर्मी बढ़ने लगी उसे हुआ यह अफ्रीका से बहार जाने के रास्ते पिघल ने लगे और बड़ी तातातो में इंसानों का माइग्रेशन होने लगा यानि वह दुसरे घर की तलाश में अफ्रीका छोड़ के निकलने लगे और फिर वह धीरे-धीरे लेमोंटिन आज के मॉडर्न इसराइल सरिया रूस जोर्डन टर्की वगेरा और भी कई देशो में स्प्रेड होने लगे या से फिर कुछ इंसान आने वाले हजारो सालो में यूरोप की तरफ निकलने लगे और कुछ एशिया की तरफ़ 40000 हजारो सालो पहले तक होमोसेपियन्स इंडिया 

और चाइना तक फैलने लगे और फिर यहाँ से सालो पहले अपनी नई ज़मीने प्रयावार्ण में रहने के बाद इंसानों में 4 मेजर ह्यूमन का जन्म हुआ जो लोग यूरोप चले गए थे माइग्रेशन के वक़्त वो लोगो को कोकेशियान कहलाया जाता है और जो लोग अफ्रीका में ही रहे थे वो लोगो को निग्रोइड रेस कहलाया जाता है उसी तरह जो लोग साउथईस्ट एशिया चले गए वो मोगोलोइड रेस के है और जो ऑस्ट्रेलिया और पोलीनीशिया जैसे साउथर्न आइलैंड के ओरिजिनल लोग है वो ऑस्ट्रेलिया रोइसे के है 

इंडिया एक्चुअली में मिक्सचर है 3 रेसिस के कोकेसियन ऑस्ट्रेलियाज़ोइड और मोंगोलॉईड नोर्थ इंडियन से जो इंडियन है उनके डीएनए में कोकेसियन जादा है और ऑस्ट्रेलियाज़ोइड और मोंगोलोइड कम साउथ इंडिया में जो इंडियन है उनके अंदर ऑस्ट्रेलियाज़ोइड जींस जादा है और नोर्थईस्ट में इंडियन है उनमे मोंगोलोइड जींस जादा है इसी वजह से इंडिया में खुद ही लोगो में बहुत विभिनता है लेकिन चाइना में एसा नहीं है चाइना में सभी लोग मोंगोलियन रेस के है और इसी लिए इस हद तक इनमे विभिनता नहीं है लेकिन अब आते है

Post a Comment

0 Comments