Pankaj Tripathi Biography In Hindi Struggling Life Of Actor

मिर्ज़ापुर में कालिंभैया का किरदार निभा कर कुभ वहा-वहा बटोर चुके एक्टर पंकज त्रिपाठी जी को आज कौन नहीं जानता अपनी शानदार और नेचुरल एक्टिंग के चलते न केवल भारत में बल्कि दुनिया में लाखो चाहने वाले है जो पंकज त्रिपाठी को नहीं जानते मै उन्हें बता दू की यह एक इंडियन एक्टर है जो बॉलीवुड की फिल्मो में काम करते हुए दिखाई देते है अगर आपने मिर्ज़ापुर और सेक्रेड गेम्स वेब सीरीज देखी है तो आपने इनकी एक्टिंग लोहा मनवाते हुए जरुर देखा होगा पर आपको जानकर हैरानी हो पंकज त्रिपाठी न केवल मूवी बल्कि कई टीवी शोज में भी काम कर चुके है 

Pankaj Tripathi Biography In Hindi Struggling Life Of Actor
Pankaj Tripathi Biography In Hindi Struggling Life Of Actor 

इनकी एक्टिंग बच्चपन से ही नेचुरल रही है और इसी वजह से लोग उनको इतना पसंद करते है अपने काम के चलते उन्होंने अपना नाम तो किया ही साथ ही साथ अवार्ड्स भी हासिल किये है जिनमे नेशनल अवार्ड भी शामिल है पंकज त्रिपाठी की कहानी शुरू होती है 5 सितम्बर 1974 जब बिहार के गोपाल गंज के छोटे से गाँव में उनका जन्म हुआ पंकज के पिता जिनका नाम पंकज बनारस त्रिपाठी था वह एक किसान थे 

और गाँव में ही पुजारी का काम भी किया करते थे इन सब के अलावा पंकज के 5 बड़े भाई-बहन और थे पंकज अपने घर में सबसे छोटे थे पंकज का जन्म एक साधारण परिवार में हुआ था किसी को उम्मीद नहीं थी यह लड़का देश भर में लोगो का चहिता एक्टर बन जायेगा पंकज बच्चपन आप और हम जैसा ही था उन्होंने ने अपनी स्कूलिंग गोपाल गूंज से ही करी थी स्कूल के दौरान उनको जभी मुका मिला करता वह अपने पिता का खेती में हाथ बठाया करते थे लेकिन वह समझते थे की पढाई के साथ-साथ हर चीज़ जरुरी है और साधारण परिवार से आये उन्हें खेती की हेमियत पता थी 

Pankaj Tripathi Biography In Hindi Struggling Life Of Actor
Pankaj Tripathi 

जायदातर एक्टर्स को एक्टिंग में इंटरेस्ट तब आता है जब वह शहरों में रह रहे होते है और पंकज के केस पूरा उल्टा था उनको एक्टिंग में इंटरेस्ट अपने गाँव में ही आयापंकज के गाँव में हर त्यौहार हर पर एक नाटक परियोजित किया जाता था जिसमे पंकज एक लड़की की भूमिका निभाया करते थे रोले भले ही लड़की का था और धीरे-धीरेउन्हें एक्टिंग से लगाव हो गया और उन्होंने एक्टिंग के शेत्र में एक्टिंग के बारे में कुछ सोचना शुरू कर दिया था यु तो सोचनेभर से कुछ हासिल नहीं होता उसके के लिए चाहत होनी चाहिये और पंकज वह व्यक्ति थे जिनके अन्दर रहा और सोच दोनों थी इसीलिए वह स्कूल ख़तम करके कॉलेज की पढाई करने गए और पटना में थिअटर में काम करना शुरू कर दिया था थिएटर में काम करने से उन्हें कोई आर्थिक मदद नहीं मिलने वाली थी इसलिए इनके बिच उन्होंने होटल में काम करना शुरू कर दिया था जिसे वह कुछ पैसे भी कम लिया करते थे 

एसा करके वह अपने घर वालो पर निर्भर नहीं रह करते थे क्युकी उनके घर वालो की आर्थिक सिथिथि अच्छी नहीं थी और पंकज इस बात को भली भाति जानते थे पटना में होटल में काम करते हुए और थिएटर करते हुए 7 साल कब गुजर गए पंकज को पता ही नहीं चला पंकज समझ चुके थे की उनको पटना के बहार जाकर ही एक्टिंग में कुछ करना होगा और पटना में 7 साल रहने के बाद वह डेल्ही चले गए जहा उन्होंने नेशनल स्कूल ऑफ़ ड्रामा में एक्टिंग की बारीकियो को सिखा और कूद को कमाल के एक्टर में तक्दिल कर दिया 2004 में 

Pankaj Tripathi Biography In Hindi Struggling Life Of Actor
Pankaj Tripathi Biography
वह नेशनल स्कूल ऑफ़ ड्रामा से ग्रेजुएट होके और फिर उन्होंने मुंबई जाने का फैसला किया इसी दुआरण 15 जनुअरी 2004 को पंकज की शादी मिरदुला से हुई और फिर पंकज अपनी पत्नी की साथ ही मुंबई सिफत हो गए मुंबई में आना भर उन्हें मूवीज में काम करने के लिए नहीं मिला था इसके लिए उनको बहुत स्ट्रगल करना पड़ा इसलिए उन्होंने से सोचा की जब उन्हें मूवी में काम करने के लिए नहीं मिलता तब तक टीवी शोज ही कर लिए जाए और पंकज छोटे मोटे रोल्स टीवी पर मिलने लगे जो उनकी पर्थिभा के साथ बिलको नियाय नहीं कर रहे थे और वक़्त ही कुछ एसा था की उन्हें यह टीवी शोज करने पड़े 

इस दौरान उनकी पत्नी ने भी टीचिंग शुरू कर दी और घर की आर्थिक सिथिथि को सहमत भी किया पंकज फली फिल्म 2004 में आई थी और इस फिल्म में इनका रोले बहुत छोटा था कुछ इसी तरह छोटे मोटे रोल्स के साथ समय बिता रहा साल का 2010 जब पंकज गुलाल नाम के टीवी शो में काम रहे थे उनकी इस एक्टिंग देख कर अनुराग कश्यप ने उनको गंग्स ऑफ़ वासेपुर में सुल्तान का रोले करने को मिला या फिल्म पंकज को बदलने वाली फिल्म साबित हुई कहते है की इस फिल्म के लिए उन्होंने 8 घंटे का ऑडिशन दिया

 2012 में जब गंग्स ऑफ़ वासेपुर रिलीज़ हुई इसकी सफलता ने कई एक्टर के काररीएर में जान थोपदी और उन्ही में से एक थे पंकज त्रिपाठी इस फिल्म के बाद उन्हें कई कमाल के रोल्स मिलने लगे और बह हर रोले में अपना 100% देते थे वह आगे चलकर मांजी मसान निल्बता सनाठा न्युतुं बरेली की बर्फी स्त्री मूवीज और मिर्ज़ापुर और सेक्रेड गेम्स वेब सीरीज में काम करते हुए नज़र आये और अपने आप को बॉलीवुड के चहिते एक्टर्स में शामिल कर लिया 

Post a Comment

0 Comments